Welcome to hindi soch here you see hindi spiritual stories.love stories movies stories horror stories and much more in hindi

November 8, 2019

भूतिया पेड़ horror story in hindi soch indian horror story hindi and english

      

     Short horror story hindi soch

भूतिया पेड़ horror story in hindi soch indian horror story hindi and english
horror story in hindi
horror story in hindi


 भूतिया पेड़ short horror story indian horror story hindi and english

सुनील और उसकी पत्नी बहुत ही खुशी से रहते थे।उनका वैवाहिक जीवन बहुत ही अच्छे से चल रहा था लेकिन उनके कोई संतान नही थी।इस बात से दोनों बहुत ही परेशान रहते थे।
एक दिन वे दोनों एक डॉक्टर के पास गए।तो डॉक्टर ने कहा कि सुनील की पत्नी तो माँ बन सकती है लेकिन सुनील पिता नही बन सकता।
ये बात सुनकर सुनील को बहुत बुरा लगता है।वो बहुत ही परेशान हो जाता है।
सुनील अब बहुत ही स्ट्रेस में रहने लगता है।
लेकिन उसकी पत्नी उसको समझाती है कि इसमे आपकी गलती थोड़े ही है।हम कोई बच्चा गोद ले लेंगे।
लेकिन सुनील को यही लगता है कि ये उसकी ही वजह से हो रहा है और सुनील उठ कर पास के जंगल मे चला जाता है।
जब वो जंगल के बीचों बीच पहुंचता तभी उसको कोई आवाज आती है।
वो अपने चारों और देखता है लेकिन वहां पर कोई नहीं होता।
की तभी उसके पीछे से आवाज आती है कि मैं तुम्हारे पीछे वाला पेड़ बोल रहा हु।
ये सुनकर वो पीछे देखता है। तो उसको एक पेड़ दिखाई देता है। उस पेड़ के आंख नाक मुँह देखकर वो डर जाता है ।
वो पेड़ बोलता है डरो मत मैं सबकी इच्छा पूरी करता हु अगर तुम्हारी कोई इच्छा है तो मैं वो पूरी कर दूंगा। सुनील को उसकी बात पर विश्वास नही होता और वो कहता है कि मुझे भूख लग रही है।मुझे पिज्जा खाना है और तभी उसके हाथ मे पिज्जा आ जाता है।
 ये देखकर उसका मन बहुत ही महत्वाकांक्षी हो जाता है।वो मन मे सोचने लगता है कि अब तो मैं कुछ भी पा सकता हु।और वो  उस पेड़ को कहता है कि तुम इसी जगह पर मेरे लिए एक बंगला बना दो ।
उसके देखते ही देखते उस जंगल में पर एक आलीशान बंगला आ जाता है।
अब वो उसको कहता है कि मैं अपनी पत्नी को लेकर आता हूं ।फिर वो अपनी पत्नी को वहाँ लेकर आता है और उसको वहाँ पर अपने बंगले के अंदर लेकर जाता है और सारी बात अपनी पत्नी को बताता है।
ये सुनकर सुनील की पत्नी सोचती है कि अगर मैं इससे एक बच्चा मांगू तो क्या ये दे सकता है और वो उससे एक बच्चा मांग लेती है।
की तभी उसके सामने एक बच्चा आ जाता है। वो उसको उठाती हैं और प्यार से अपने गले लगा लेती है।
अब वो तीनो उसी बंगले को अपना संसार बना लेते है।
वहाँ पर उनको उनकी जरूरत का हर समान मिलता है।
जो भी वो उस पेड़ से मांगते थे। वो उनको मिल जाता था। जब उस घर मे उनको तीन दिन बीत गए।
उनको थोड़ी कमजोरी महसूस होने लगी।वो बहुत सी चीजें उस पेड़ से मांगते थे और खाते थे
पर उनकी भूख शांत नही हो रही थी। एक दिन सुनील बंगले के कांच से बाहर देखता है।
तो दूर एक आदमी उसको देखकर हंस रहा होता है।ये उसको समझ नही आता कि ये क्यो हस रहा है।
अब वो उस बंगले से बाहर निकलने के लिए सोचता है।
वो अगली सुबह को मन बना लेता है कि आज मैं इस बंगले से बाहर निकल कर देखूंगा की वो हम पर क्यो हंस रहे थे।
और वो दरवाजा खोलकर बाहर निकल जाता है ।
और उस आदमी की जगह पर जाता है।तो वो देखता है कि वह पर बंगला था ही नही और उसकी पत्नी एक पत्थर को मिट्टी से नहला रही है ।
ये सब देखकर उसको पता चल जाता है।कि वो इन चार दीनो मे वहम की जिंदगी जी रहा था। इसलिए इतना सब कुछ खाकर भी उसको भूख लगती थी
short horror story

short horror story


अब उसको सब कुछ समझ आ गया था।और वो सोच रहा था कि अपनी पत्नी को बाहर कैसे निकाले।
वो फिर से उस पेड़ के पास गया वहाँ पर फिर उसको वो बंगला दिखाई देने लगा ।फिर वो उस बंगले के अंदर चला गया।
उसने अपनी पत्नी को कहा कि चलो आज बाहर घूमकर आते है।उसकी पत्नी ने कहा कि मैं बस अपने बच्चे के साथ रहना चाहती हु।मुझे कहि भी घूमने नही जाना।
सुनील बोलता है कि मुन्ना को भी बाहर लेकर चलते है।और वो उसको लेकर बाहर आ जाता है।
और उस पेड़ से दूर जाकर सब बताता है।उसकी पत्नी को विश्वास नही होता।तो वो कहता है कि तुम्हारे हाथ मे क्या है ।
सुनील की पत्नी बोलती है कि मेरे हाथ मे हमारा बच्चा है।लेकिन अपने हाथ मे पत्थर देखकर वो रोने लगती है।।
सुनील उसको समझाता है।कि वो सब हमारा वहम था।सच मे कुछ भी नही था।हमारे लालच ने हमको सच नही देखने दिया।
और वो दोनों वहाँ से चले जाते है।
अगले रात वहाँ कोई दूसरा आदमी आता है।और उसको वहाँ पर एक बंगला दिखाई देता है।और वो पेड़ फिर से अपना खेल शुरू कर देता है।
अगर सुनील को कांच से वो आदमी नही दिखता तो वो कभी उस बंगले से बाहर नही निकल पाते।।

Ghost tree horror story in hindi soch indian horror story english

 Ghost tree short horror story indian horror story english

Sunil and his wife lived very happily. Their marital life was going very well but they had no children. Both were very upset by this.

One day both of them went to a doctor. So the doctor said that Sunil's wife can become a mother but Sunil cannot become a father.

Sunil feels very bad on hearing this. He gets very upset.

Sunil now lives in very stress.

But his wife explains to him that it is not your fault in this. We will adopt a child.

But Sunil feels that this is happening because of him and Sunil gets up and goes to the nearby forest.

When he reaches the middle of the forest, only then he gets a voice.

He looks around but there is no one there.

That is when a voice comes from behind him that I am speaking the tree behind you.

Hearing this, he looks back. So he sees a tree. Seeing the eyes and nose of that tree, he is scared. He speaks of the tree. Do not be afraid. I fulfill everyone's wish, if you have any wish, I will fulfill it. Sunil does not believe his point and he says that I am hungry. I have to eat pizza and then pizza comes in his hand. Seeing this, his mind becomes very ambitious. He starts thinking in his mind that now I can get anything. And he says to that tree that you should build a bungalow for me at this place. A luxurious bungalow ensues in that forest.

Now he tells him that I bring my wife. Then he brings his wife there and takes her there inside his bungalow and tells the whole thing to his wife. Hearing this, Sunil's wife thinks If I ask for a child from her, can she give it and she asks for a child from it.

That is when a child comes in front of him. She picks him up and hugs him lovingly.

Now all three make that bungalow their world.

There they get everything they need, whatever they thought. He used to get them. When three days passed in that house. They started feeling a little weakness. They used to ask for many things from that tree and used to eat it but their hunger was not calming. One day Sunil looks out from the glass of the bungalow. So a distant man looks at him and laughs. He does not understand why he is laughing.

Now he thinks to get out of that bungalow.

He makes up his mind the next morning that today I will come out of this bungalow to see why he was laughing at us.

And he opens the door and goes out and goes to the man's place. So he sees that he did not have a bungalow and his wife is bathing a stone with mud. Seeing this, he comes to know that. He was living the life of Vaham in these four days. That's why he was hungry even after eating so much. Now he understood everything. And he was thinking how to get his wife out.

He went to that tree again and there he started seeing that bungalow. Then he went inside that bungalow.

He told his wife that let's go out today and come out. His wife said that I just want to be with my child. I don't have to go anywhere.

Sunil says that he takes Munna out as well, and he comes out with it.

And he goes away from that tree and tells everyone. His wife does not believe. So he says what is in your hand. Sunil's wife says that I have our baby in my hand. But seeing the stone in her hand she starts crying. Sunil explains to him that all of that was our desire. There was nothing in the truth. Our greed did not let us see the truth.

And they both leave from there. The next night another man comes there and he sees a bungalow there and that tree starts its game again.

If Sunil did not see the man from the glass, he would never get out of that bungalow.

No comments:

Post a Comment