Welcome to hindi soch here you see hindi spiritual stories.love stories movies stories horror stories and much more in hindi

October 7, 2019

Dussehra 2019 kab hai, kya hai,kyo manaya jata hai,kaise manate hai in hindi soch

                         Hindi soch

Dussehra 2019 kab hai, kya hai,kyo manaya jata hai,kaise manate hai in hindi soch



dussehra in 2019
dussehra in 2019

 Dussehra 2019 kab hai?

 दोस्तो 8 अक्टूबर 2019 को दशहरा है ये मंगलवार के दिन है

Dussehra kya hai ?

हेलो दोस्तो आपका स्वागत है festival  stories in hindi soch में और मैं हु आपका दोस्त मुंगेरी ढालिया।
दोस्तो नवरात्रि चल रही है और dussehra 2019 के आगमन होने वाला है । वैसे तो दशहरे को कई वजह से मनाया जाता है। इनमे से कुछ मैं आपको आज इस पोस्ट में बताऊंगा।

Dussehra kyu manate hain?

   दोस्तो वैसे तो दशहरा कई कारणों से मनाया जाता है लेकिन इसके दो मुख्य कारण या इसके पीछे की कहानी मैं आपको बताने जा रहा हु।
दोस्तो दशहरे को विजय दशमी भी कहा जाता है।
चलिए जानते है।
        dussehra kyu manate hain।
दोस्तो बहुत पहले की बात है एक महिषासुर नाम का राक्षस था।उसका शरीर भैंसे की तरह था ।
इसलिए उसका नाम महिषासुर था।क्योंकि भैंसे को संस्कृत में महिष कहा जाता है।

महिषासुर ने घोर तप करके ये वरदान पा लिया था कि उसकी मृत्यु किसी के हाथों से न हो।
सिर्फ नारी ही उसका अंत कर सकती थी।
इसलिए सभी देवताओं ने अपनी अपनी शक्ति मां दुर्गा
को प्रगट किया।
सभी देवों ने उनको बहुत से अस्त्र शस्त्र प्रदान किये । सभी अस्त्र शस्त्रो के साथ सुसज्जित होकर और सिंह पर सवार होकर माता दुर्गा महिषासुर से युद्ध करने गयी ।
उन दोनों में घमासान युद्ध हुआ ये युद्ध 9 दिनों तक रहा इसलिए ये नवरात्रि मनाई जाती है और दसवे दिन माता ने महिषासुर का वध कर दिया इसलिए इस दिन को विजय दशमी के रूप में मनाया जाता है।

दशहरा क्यो मानते है इसकी दूसरी कथा



dussehra 2019 images
dussehra 2019 images
जब माता सीता को रावण हरण करके ले गया था तब श्री राम जी और लक्ष्मण जी माता सीता को वन वन ढूंढ रहे थे ।
तब उनकी मुलाकात हनुमानजी से हुई ।हनुमानजी ने श्री राम जी और सुग्रीव को मिलाया और उनमें मित्रता कराई।
सुग्रीव जी के दुख दूर करने के लिए राम जी ने बाली को मार कर सुगरीव को किष्किंधा का राजा बनाया।
सुग्रीव ने अपनी सेना भेज कर  माता सीता का पता लगाया ।
फिर राम जी ने लंका पर चढ़ाई की और रावण सहित सभी राक्षसों का वध किया। इसलिए इस दिन को विजय दशमी के रूप में मनाया जाता है।
महाभारत की कथा के अनुसार ईस दिन पांडवो का अज्ञातवास पूरा हुआ था कई लोग इसलिए भी ये त्योहार मानते है।

दशहरा कैसे मानते है?



dussehra 2019 in india
dussehra 2019 in india
ये त्योहार भी एकता का प्रतीक है ।इस दिन बड़े बड़े मैदानों में रावण कुम्भकर्ण और मेघनाद के पुतलो को जलाया जाता है।
इस दिन से पहले भारत मे कई जगहों पर रामलीला का कार्यक्रम भी होता है और इस दिन राम जी की झांकी निकाली जाती है और राम जी बाण चलाकर उन तीनों पुतलो का दहन करते है।सभी लोग ये नज़ारा देखने आते है और फिर शाम को कोई सोने या चांदी की चीजें खरीदते है । बाद में एक दूसरे के घर जाकर बधाई देते है।इसलिए इसको एकता का त्योहार भी कहा जाता था। लेकिन आज कल के व्यस्त जीवन मे ये सब बहुत ही कम हो गया है। आज किसी के पास इतना समय ही नही है।






  

No comments:

Post a Comment