Hindi soch

Welcome to hindi soch here you see hindi spiritual stories.love stories movies stories horror stories and much more in hindi

July 24, 2019

Atma ki pukar hindi horror stories story in hindi horror in hindi soch

Atma ki pukar hindi horror stories story in hindi horror in hindi soch

दोस्तो आपका स्वागत है hindi horror stories in hindi soch पर दोस्तो आज कहानी का शीर्षक है आत्मा की पुकार तो चलिये शुरु करते है ।
आत्मा की पुकार-
  मुम्बई में एक पति पत्नी रहते थे ।उनका नाम अनु और विश्वास था ।अनु बहुत ही धार्मिक प्रवृत्ति की थी ।वो भगवान में बहुत आस्था रखती थी । विश्वास की पोस्टिंग दिल्ली हो गयी ।और वो दिल्ली चले गए।वहाँ पर उन्होंने एक घर को रेंट पर लिया।जब वो घर मे शिफ्ट हो रहे थे ।

घर मे अजीब सी आवाजे

एक आदमी ने उनको कहा कि इस घर मे एक आत्मा है। पर विश्वास ने उसकी बातपर ध्यान नही दिया ।और वो लोग वहां पर रहने लगे।पहले कुछ दिन तक तो वहाँ पर सब कुछ ठीक था पर 4 से 5 दिन बाद उनके घर मे अजीब सी आवाजे आने लगी ।अनु को बहुत डर लगने लगा।और वो विश्वास को साथ लेकर देखने गयी कि ये आवाज कहाँ से आ रही है।वो दोनों आवाज को सुनते सुनते एक कमरे के पास गए ।उस कमरे में ताला लगा था। उन दोनों ने ताला तोड़ दिया। पर अंदर कोई नही था और आवाज भी बंद हो गयी।वो उस दरवाजे को बंद करके फिर अपने कमरे में चले गए ।थोड़ी देर बाद घर की लाइट चालू बंद होने लगी। ये देख कर अनु डर गई।पर विश्वास ने कहा कि बिजली में कोई खराबी आ गयी होगी।मैं देख कर आता हूं ।

आत्मा विश्वास के शरीर मे 

hindi horror stories

hindi horror stories 

जैसे ही विश्वास उठा वहाँ पर रखी सभी चीजें हवा में उड़ने लगी।और एक आवाज वहाँ पर गूंजने लगी कि अब तुमको मरना होगा ये मेरा घर है और यहाँ पर मेरे अलावा कोई और नही रह सकता। ये उस घर की आत्मा की आवाज थी। और वो आत्मा विश्वास के शरीर मे घुस गई और उसके शरीर पर कब्जा कर लिया। और अनु को मारने के लिए उसका गला दबाने लगा। अनु ने कैसे भी करके अपने आप को छुड़ाया। और वहाँ से भग कर मन्दिर के पास चली गयी ।विश्वास के अंदर आत्मा थी ।इसलिए वो मंदिर के अंदर नही जा सका।अब अनु ने अपने आप को हिम्मत दी और सोचा की विश्वास को कैसे भी करके उस आत्मा के चंगुल से बचाना होगा।



गजेन्द्र मोक्ष का पाठ और आत्मा की मुक्ति

अनु भगवान विष्णु की भक्त थी।और वो रोज गजेंद्र मोक्ष का पाठ किया करती थी।उसने मंदिर से पवित्र जल और फूल लियाऔर बाहर विश्वास के पास गयी और उस फूल से जल विश्वास के ऊपर छिड़कने लगी ।जिससे वो आत्मा कमजोर पड़ने लगी।और अनु ने विश्वास के चारो और पवित्र जल से घेरा बना दिया और गजेन्द्र मोक्ष का पाठ करने लगी।और जैसे ही पाठ पूरा हुआ वो आत्मा विश्वास का शरीर छोड़ कर बाहर निकल गयी और उस आत्मा की आवाज आई मुझे मुक्ति दिलाने के लिए धन्यवाद अनु।
कॉमेंट एंड शेयर
         धन्यवाद

No comments:

Post a Comment